शिफूजी का झूठ सामने आ गया , अब तो ऊँची आवाज़ में देशभक्ति का राग बंद करो

शिफूजी जो की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों को गाली दे कर सोशल मीडिया में अपनी जगह बनाई थी, उसी सोशल मीडिया ने उनकी सच्चाई को सामने ला दिया।  मुझे अब भी याद है जब ज़ी TV पर पहली बार मैंने इन महाशय के दर्शन किये थे।  देशभक्ति और कमांडो ट्रेनिंग के नाम पर जब ये व्यक्ति अपने पिछवाड़े को दर्शकों की तरफ दिखा कर बाबा रामदेव की तरह अपने हाथों पर खड़ा हो गया तो मैं तो ज़ी टीवी की मैनेजमेंट की बुद्धि पर दंग रह गया. कुछ ही समय में शिफूजी ने बॉलीवुड में अच्छी खासी जगह भी बना ली।  बागी मूवी में तो शिफूजी (शौर्य भरद्वाज ) को अच्छा खास किरदार भी निभाने को मिला।

shifuji in cusotdyक्या ज़ी टीवी में मूर्खों ने मैनेजमेंट संभल रखा है , मुझे अब भी याद है की शिफूजी को नगरोटा में आर्मी कैंप पर हुए हमले पर बोलने के लिए बुलाया गया था. शिफूजी ने कुछ ज्यादा ही गंभीरता से अपने कमांडो ट्रेनर के जुमले को प्रमोट किया।  उसे मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की भाजपा सरकार ने काफी सम्मानित भी किया। मुझे समझ नहीं आता की क्या किसी व्यक्ति की पृष्ठभूमि नहीं देखि जाती उसे सरकारी सम्मान देने के पहले, लगता है जुमलेबाजों की सरकार को जुमला देने वालों को सम्मानित करने में मजा आने लगा है.

मध्य वर्ग में अब भी कुछ बलि के बकरे अब भी बचे हैं जो नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को समझ नहीं पा रहे हैं।  उन्हें लगता है की प्रधानमंत्री जी ने देश के लिए और ख़ास क्र इस देश के हिंदुओं के लिए बहुत कुछ किया है।  अरे मूर्खों अगर आपकी लाइफस्टाइल में एक बड़ी सी चार्टर्ड प्लेन , हर रोज पहनने को उम्दा कपडे, अच्छा खाना   और  आदेश का पालन करने के लिए ऑफिसर्स हों तो थोड़ी बहुत जुमलेबआजी में हर्ज ही क्या है , अब समस्या है की ये शिफूजी तो पकड़ा गया अभी तो जुमलेबाज  गैंग को नेता तो कुल आम घूम रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *