Railway Link Between Raxaul to Kathmandu

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ने रक्सौल और काठमांडू के बीच रेलवे लाइन बिछाने के लिए जरूरी समझौते सम्बन्धी कागजातों पर दस्तख्वत कर दिए हैं।  उम्मीद की जा रही है की इस रेलवे लाइन के लिए किया जाने वाली शुरूआती सर्वे को १ साल के भीतर पूरा कर लिया जाएगा।  ये रेलवे लाइन Electrified होगी और इसका मकसद दोनों देश के लोग के बीच व्यपार और सम्पर्क को बढ़ाना है।

दोनों ही देश के प्रधानमंत्री भारत नेपाल रेलवे लिंक प्रोजेक्ट के फेज १ के तहत हुए कार्य से संतुष्ट दिखे।  ज्ञात रहे की भारत और नेपाल के बीच जयनगर से जनकपुर / कुर्था तथा जोगबनी से बिराटनगर के रेलवे पर काम २०१८ में पूरा हो जाने के आसार हैं।

रक्सौल से काठमांडू के बीच के रेलवे लिंक का महत्व इसलिए भी बढ़ जाता है की नेपाल ने मार्च २०१६ में चीन के साथ नेपाल और तिब्बत के बीच रेलवे लाइन बनाना शुरू किया था।  इस समझौते से भारत और नेपाल के बीच फिर से रिश्ते बहाल होने के काफी अच्छे आसार बन गए हैं।  २०१५ से २०१६ के बीच भारत और नेपाल के बीच आर्थिक blockade  के कारण दोनों देशों के बीच व्यापार १३५ दिनों तक ठप्प रहा था और इसके लिए नेपाल में बहुत सारे वर्ग भारत को जिम्मेवार मान रहे थे।  

रक्सौल से काठमांडू के बीच रेलवे की सेवा एक बार फिर से भारत और नेपाल के बीच के संबंधों में सकारात्मकता लाने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *