ट्रांसफर हुए अफसरों की फेयरवेल पार्टी में हंगामा

बिहार सरकार ने 28 अप्रैल को 70 आईएएस और आईपीएस अधिकारियों को स्थानांतरित कर दिया था। 38 जिलों में से 21 जिलों में नए डीएम हैं, 17 जिला पुलिस प्रमुख भी बदले गए हैं।  खैर महत्वपूर्ण खबर ये नहीं है , जरूरी खबर ये है कि इन अफसरों की फेयरवेल पार्टी का लेवल काफी ऊँचा हो चूका है।  

कटिहार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ मोहन जैन और जिला मजिस्ट्रेट मिथिलेश मिश्रा की विदाई पार्टी ने मंगलवार की शाम को ‘ये दोस्ती हम नाही टोडगे’ गाते हुए एसएसपी को हवा में गोलीबारी की। घटना के खिलाफसख्त  कार्रवाई करते हुए, राज्य सरकार ने जैन के प्रतिनियुक्ति को रद्द कर दिया। वह दिल्ली में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में शामिल होने वाले  थे। अब ये देखना दिलचस्प होगा की जिस अफसर को केंद्र सरकार ने बुलाया उसे नितीश सरकार के द्वारा  रोके जाने पर केंद्र सरकार की क्या प्रतिक्रिया होगी। अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक (एडीजी) एसके सिंघल ने बताया कि पुलिस मुख्यालय सभी अधिकारियों को सलाह देगा और उन्हें ऐसे विदाई पार्टियों से दूर रहने की सलाह देगा। 

मुंगेर के एक अन्य वीडियो में, आउटगोइंग एसएसपी आशीष भारती अपने सहयोगियों के साथ सड़कों पर गए और एक लोकप्रिय हरियाणवी गीत पर नृत्य किया। यह लगभग एक रोड शो था क्योंकि आउटगोइंग SP पूरे शहर में DJ के साथ मस्ती करते नजर आये और ट्रैफिक व्यवस्था भी बाधित हुई।

हाजीपुर के SP राकेश कुमार की विदाई वेडिंग थीम के साथ हुई , अफसर ने अपनी पत्नी को बिलकुल असली विवाह की तरह माला पहनाया।

लगता है की नेताओं के महंगे रोड शो , लाइफ स्टाइल का असर उनके मातहत काम करने वाले अफसरों पर भी पड़ने लगा है , अब जनता की खैर नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *